चमोली: इस गावं के लोग पर हर समय मंडरा रहा है जान का खतरा

-निजमुला के ग्रामीण जान जोखिम,में डालकर आवाजाही करने को मजबूर


संदीप चमोली

 चमोली के दाशोली ब्लॉक के दुरस्त गांव निजमुला की है, जहां ग्रामीण जान जोखिम में डालकर आवाजाही कर रहे हैं। दरअसल
प्रधान मंत्री सड़क योजना के तहत निजमुला ,ईरानी मोटर मार्ग पर बना पुल गोना गावँ के पास भेगड़ा नामक स्थान पर 18 मीटर का गाडर पुल था, 16 जुलाई 2018 की अतिबृष्टि से पुल के ऊपर मलवा आने से छतिग्रस्त हो गया था,,pmgsy को बार बार ग्रामीणों द्वारा इस संदर्भ में अवगत करवाया गया ,परन्तु अभी तक कोई कार्यवाही नही हो पाई है। बता दें यह पुल
निजमुला घाटी के पाना, ईरानी,पगना,झिंझि,दूर्मी, गोणा निजमुला,मानुरा,तड़ागताल,धारकुमाला,गोणा, पठेला,भनाली,सेराबागड गावों को जोड़ता था,इस पुल टूटने के बाद ,बमुश्किल बाई पास करके लोग आवागमन कर रहे हैं। बरसात पानी अधिक आने से कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। ग्रामीणों ने मांग है कि या तो इस स्थान पर velly brigde लगवाया जाय या तुरंत स्थाई पुल का निर्माण कार्य हो। ताकि वे लोग सुगमता से आवाजाही कर सकें।