क्लेमेन्टटाउन में अबैध डेयरी संचालन पर क्यों है कैंट बोर्ड मौन? पुलिस पर भी उठे सवाल.

-छावनी परिषद और प्रसाशन पर लगाये जानबूझ कर लापरवाही बरतने का आरोप।

क्लेमेन्ट-टाउन लेन न 3 और लेन नं. 5 ईडेन गैस गोदाम वाली गली में जंगल से सटे आवसीय क्षेत्र में चल रही अबैध डेयरी के संचालन पर क्षेत्रवासियों ने कडा विरोध जताया है। छावनी परिषद क्लेमेन्ट-टाउन और थाना क्लमेन्ट-टाउन को कई बार लिखित शिकायत देने के बावजूद भी पिछले कई सालों यह अवैध डेयरी चलायी जा रही है।

पीडित हिमवंत प्रदेश न्युज को बताया कि डेरी संचालन के लिए मानचित्र और भूमि की स्थित तक स्पष्ट नही है साथ डेरी संचालन के लिए छावनी परिषद् द्वारा अनुज्ञा भी प्राप्त नही की गई है। डेयरी का गोबर नालियों में बहा दिया जाता है जिससे पूरे क्षेत्र में र्दुगंध फैली रहती है गाय के बछडों को मार कर जंगल में फेंक दिया जाता है। साथ ही गर्मी के मौसम में कई प्रकार के कीडें घरों में प्रवेश कर जाते है। जिससे तरह तरह की बीमारियों का डर बना रहता है। क्षेत्रवासियों ने आरोप लगाया है कि छावनी परिषद के अधिकारियों व पुलिस प्रशासन के भष्टाचार के चलते इस अबैध डेयरी को हटाने का किसी भी प्रकार का प्रयास नही किया जा रहा है। गौरतलब है कि 2013 से पहले से चलाई जा रही इस अबैध डेरी पर कार्यवाही के लिए क्षेत्रवासी कई बार छावनी परिषद और थाना क्लेमेन्ट टाउन में लिखित पत्र दे चुके है लेकिन अभी तक किसी भी प्रकार की कार्यवाही इस अबैध डेयरी पर नही की जा सकी है।


क्षेत्र में जिन लोगों को ने इस अबैध डेयरी से भारी परेसानी हो रही है उनमें केसर राम,जयंन्ती देवी,डिम्पल,सत्येन्द्र प्रसाद भट्ट,सविता देवी भट्ट, बी एस बिष्ट,आनंन्दी बिष्ट,बी डी काण्डपाल,नीमा काण्डापाल,कैप्टेन बी के राय, कैप्टेन आलम सिंह भण्डारी, तारा राय,एम एस लिम्बू,बलवीर सिंह,जयपाल सिंह रावत,बीरेन्द्र सिंह,ऊषा रावत,सत्येन्द्र सिंह,सुनीता नेगी,मेजर अभिषेक,आदित्य शर्मा,भगवान सिंह,निर्मला,उमेद सिंह,बीएस खेरा,तृप्ति पंवार,स्वेता कुमारी,प्रियंका,रमेश चमोली,शशि बिष्ट,रहनुमा नाज,धीरज खण्डूडी,रजनी आदि प्रमुख है।