आपदा को बदला अवसर मैं, स्वरोजगार अपनाकर बृजमोहन राणा ने युवाओं को दिया रोजगार

उत्तरकाशी: प्रदेश के युवा एक ओर रोजगार की तलाश मे बड़े-बड़े शहरों की ओर जा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर बृजमोहन सिंह राणा जैसे लोग बड़े शहरों का रोजगार छोड़कर अपने गांव मैं ही रोजगार खड़ा कर रहे है , जिससे कई लोगों को रोजगार के अवसर भी मिल रहा है। उत्तरकाशी के विकासखंड डुंडा के ग्राम सिंगुणी के बृजमोहन सिंह राणा ने प्रधानमंत्री सृजन कार्यक्रम के तहत गांव में स्वरोजगार योजना शुरू की है जिसमें सरकार की ओर से भी मदद दी गई।

गौरतलब है कि बृजमोहन सिंह राणा कोरोना काल के समय दिल्ली के फाइव स्टार होटल में बतौर बार मैनेजर कार्यरत थे , लेकर कोरोना वायरस के चलते वो बेरोजगार हो गए थे ,और वह भी अन्य उत्तराखंड प्रवासियों के भांति गाँव लौट गए ,

लेकिन उसके बावजूद भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और गाँव मे ही कुछ करने की ठानी जिससे उनके साथ साथ गाँव के बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिल सके , उन्होंने अपने गाँव मे प्रधानमंत्री सृजन कार्यक्रम के तहत पत्तल स्टोर की मैन्यूफैक्चरिंग का कार्य शुरू किया है ,

जिससे कई लोगो को रोजगार भी मिल रहा है , बृजमोहन सिंह राणा के इस अथक प्रयास से गांव से हो रहे है पलायन पर भी रोक लगेगी और गाँव के युवाओं को रोजगार के अवसर भी मिलेगे।

कार्यक्रम के दौरान डुंडा के ब्लॉक प्रमुख शैलेन्द्र कोहली , ग्राम प्रधान सरिता रावत, सोहन सिंह राणा , कमल सिंह राणा सहित गाँव के कई लोग मौजूद रहे ।