विलुप्त प्रजाति के भरल का खतरे में, शासन प्रसाशन मौन।

गंगोत्री नेशनल पार्क में दिखी अंधे भरल
– वाइल्ड लाइफ मानने को तैयार नहीं
– बीएसएफ की पर्वतारोही टीम ने दी थी जानकारी
सेफ विंटर गेम्स 2010 का प्रतीक भरल यानी ब्ल्यू शीप खतरे में है। भरल हिमालय के 14 हजार से भी अधिक फीट की ऊंचाई पर पाया जाता है। बताया जा रहा है कि इनकी आंखों में एक तरह की संक्रामक बीमारी फैल रही है जो उन्हें अंधा बना रही है। भरल विलुप्त हो रहे जीवों में से एक है। इस आशय की जानकारी पर्वतारोही टीम के लवराज धर्मशक्तू ने दी जो कि छह बार एवरेस्ट फतेह कर चुके हैं। पर्वतारोही दल ने नौ ब्ल्यू शीप के अंधा होने के बात कही है।

हालांकि वाइल्ड लाइफ के चीफ वार्डन डीवीएस खाती इस संक्रामक बीमारी का खंडन कर रहे हैं और एक शीप के लंग्स इंफेक्शन से मरने की बात कर रहे हैं, और उसका सैंपल आईवीआरआई को भेजने की बात कही है। जबकि आईवीआरआई ऐसे किसी सैंपल भेजने की बात नहीं कर रहा है। सवाल इस भरल नस्ल को बचाने का है। इस मामले को गंभीरता से लिया जाना चाहिए।

-गुणानंद जखमोला की कलम से