बहुउपयोगी बम्बो हाउस पर्यटन की करेगा कायाकल्प

बंम्बों हाउस यानी की बांस की लकड़ी से बने घर उत्तराखंड जैसे पहाड़ी राज्य के लिए हर प्रकार से बहुउपयोगी है।पर्यावरणविदो की माने तो यह घर स्टील और लोहा बजरी का विकल्प हो सकता है। क्योंकि उत्तराखंड भूकम्प के चार और पांच जोन में आता है। इस तरह के घरों में 8 रियेक्टर के विनासकारी भूकम्प को सहने की क्षमता है,पर्यावरणीय दृष्ठी से यह घर बहुत अच्छा होता है जिसमें जीरो प्रतिसत कार्वन का उत्सर्जन होता है। साथ ही जो युवा इसे पर्यटन के रोजगार की दृष्टि से बनाने चाहता उसके लिए भी यह काफी किफायती है क्योंकि सीमेन्ट और कंकरीट की इमारतों को बनाने में इतना समय लग जाता है कि जब यह बन भी नहीं पाता उससे पहले इसकी बैंक की किस्त शुरू हो जाती है, जिससे बेरोजगार युवाओं पर रोजीरोटी का संकट आ जाता है।