बागेश्वर: पांडव कालीन भीम गेंद को अराजक तत्वों ने तो डाला

गरुड़ बागेश्वर: विश्व प्रसिद्ध बैजनाथ मंदिर के परिसर में स्थित पांडव कालीन भीम गेंद अराजक तत्वों ने तोडा डाली है। यह गेंद पर्यटकों के खास आकर्षण का केंद्र थी। बैजनाथ मंदिर के प्रवेश द्वार के दाहिनी ओर गोमती नदी के किनारे भीम गेंद रखी गई थी।
पौराणिक मान्यता के अनुसार वनवास के दौरान पांडव कुछ समय बैजनाथ मंदिर के पास रुके थे यहां पर आज भी पांच पत्थर हैं बलसाली भीम इस स्थान पर गेंद से खेला करते थे तभी यह गेंद यहां पर रखी थी । बैजनाथ पहुंचने वाले देशी और विदेशी पर्यटक इस दिन को उठाने की कोशिश कर अपनी ताकत का एहसास करते थे। भीम गेंद एक खास बात यह थी कि लोग जब 9 लोग इसको 9 कोणों से एक एक उंगली का संतुलन बनाते हुए उठाते तो आसानी से उठ जाता था ।
अब यह विश्व धरोहर बैजनाथ मंदिर में नहीं दिखेगी ।बैजनाथ के ग्राम प्रधान मंदिर के मुख्य पुजारी ने प्रशासन से शीघ्र गेंद तोड़ने वाले अराजक तत्वों को पकड़ने और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं योगेंद्र सिंह ने अराजक तत्वों पर जल्द कार्रवाई किए जाने का आश्वासन दिया है ।उन्होंने कहा गेंद को तोड़े जाने का मामला संज्ञान में आया है जांच की जा रही है, आस्था की धरोहर पर प्रहार करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा, पुलिस मामले की जांच कर रही है।