अनुसूया माता रथडोली देवरा यात्रा का समापन 21 मई को, 12 मई से शुरू होगा लक्ष महायज्ञ और श्रीमद् देवी भागवत कथा का भव्य आयोजन

 

भानु प्रकाश नेगी

देहरादून-अनसूया रथ डोली देवरा यात्रा का समापन आगामी 12 मई से 21 मई तक आयोजित लक्ष महायज्ञ और श्रीमद् देवी भागवत महापुराण के बाद पूर्णाहुति से सम्पन्न होगा। रथडोली को ग्राम मण्डल में बने नव निर्मित अनुसूया माता रथ डोली मंदिर में रखा जायेगा। अनुसूया माता मंदिर समिति के अध्यक्ष भजन सिंह झिंक्वाण ने बताया कि 2019  विजयदशमी के पर्व पर माता अनुसूया की रथ डोली देवरा यात्रा पर निकली थी. 2020 में देवरायात्रा समाप्त होना था लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पूर्ण लाॅकडाउन लग गया जिससे देवरा यात्रा संम्पन्न नहीं हो पाई। इस साल अब देवरा यात्रा का समापन किया जा रहा है। जिसमें कोरोना वायरस की सभी गाईडलाइन का पालन किया जायेगा। ज्योतिषपीठ से अलंकृत कथा व्यास आचार्य शिव प्रसाद ममगाई के श्रीमुख से दिब्य अमृतमयी श्रीमद्देवी भागवत कथा का श्रवण कराया जायेगा। उन्होंने इस महायज्ञ में देश विदेश से आने सभी भक्तों का स्वागत किया है, लेकिन यह भी कहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण का विशेष ध्यान रखा जाय ताकि किसी भी प्रकार का काई व्यवधान पैदा न हो सके।