एम्स ऋषिकेश जगत बंधु सेवा ट्रस्ट के मध्य दुर्गम उत्तर प्रदेश के  क्षेत्रों में टेली हेल्थ प्रोग्राम करार

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश एवं जगत बंधु सेवा ट्रस्ट के मध्य मुजफ्फरनगर, अति पिछड़े व दुर्गमउत्तरप्रदेश के  क्षेत्रों में टेली हेल्थ प्रोग्राम के तहत चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराने को लेकर करार हुआ। जिसके तहत संस्थान सुदूरवर्ती स्वास्थ्य सेवाविहीन गांव में आउटरीच प्रोग्राम के तहत चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराएगा। एम्स में आयोजित बैठक में उत्तरप्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद के दुर्गम तथा पिछड़े क्षेत्र स्थित गांव सेठपुरा, पुरकाजी में एम्स ऋषिकेश की ओर से आउटरीच टेली हेल्थ प्रोग्राम को लेकर विमर्श किया गया। इस बाबत बैठक में जगत बंधु सेवा ट्रस्ट व एम्स ऋषिकेश के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इस अवसर पर संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत जी ने कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के इस कठिन समय पर एम्स ऋषिकेश आउटरीच एवं सुदूर क्षेत्रों में मरीजों को अपनी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं सततरूप से प्रदान करने के लिए प्रयासरत है I निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत  ने कहा कोविड -19 महामारी के गठिन दौर में भी लोगों तक पहुंचकर उनकी बीमारियों को समझना व मुकम्मल उपचार देना भी अति आवश्यक है।

कोविड-19 के अलावा जो अन्य गंभीर बीमारियां हमारे समुदाय में परंपरागतरूप से चली आ रही हैं, मसलन हाइपरटेंशन, डायबिटीज और अन्य इस तरह की बीमारियों को हम नजरअंदाज नहीं कर सकते। इस संदर्भ में एम्स आउटरीच सेल के नोडल अधिकारी डा. संतोष कुमार ने कहा कि आउटरीच टेली हैल्थ प्रोग्राम के तहत दुर्गम क्षेत्रों में एम्स के विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा सेवाएं प्रदान की जाएंगी और यह सेवा टेली मेडिसिन के जरिए ऑनलाइन उपलब्ध कराई जाएंगी। जिसे एम्स के विशेषज्ञों द्वारा साझा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रोग्राम के तहत डायबिटीज, हाइपरटेंशन के मरीजों को परामर्श दिया जाएगा, वजह यह दोनों बीमारियां हृदय रोगियों के लिए बहुत खतरनाक होती हैं। उन्होंने बताया कि बैठक में किया गया यह करार एम्स तथा जगतबंधु सेवा ट्रस्ट के बीच अगले छह माह के लिए किया गया है। उम्मीद जताई कि इस पहल से एम्स की टीम मुजफ्फरनगर के दुर्गम क्षेत्रों में रहने वाली क्षेत्रीय जनता को चिकित्सा सुविधा का लाभ उपलब्ध कराएगी।

बताया गया है कि जगतबंधु सेवा ट्रस्ट के संयोजक व समाजसेवी सुमित प्रजापति जी ने लॉकडाउन में लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकथाम के लिए 50,000 से ज्यादा मास्क निशुल्क वितरित किए और इस दौरान कई क्षेत्रों में अभावग्रस्त लोगों के लिए खाद्य सामग्री का प्रबंधन भी किया। बताया गया कि सुमित प्रजापति जी करीब 5 वर्ष से ट्रस्ट के माध्यम से मानव सेवा के पुनीत कार्य में जुटे हैं। जिसके अंतर्गत वह मेडिसिन बैंक, बुक बैंक, वेलफेयर सेंटर आदि 24 अलग-अलग तरह की सेवाएं दुर्गम एवं पिछड़े क्षेत्रों से लोगों को प्रदान कर रहे हैं। इस दौरान टेली हेल्थ प्रोग्राम के सदस्य सेवानिवृत्त कर्नल डॉ. सीन जॉब जी ने कहा कि बिना प्राथमिक चिकित्सा एवं पब्लिक हैल्थ के एक स्वस्थ समाज की परिकल्पना नहीं की जा सकती, लिहाजा इसी उद्देश्य के साथ संस्था के साथ हम सबने इस हेल्थ प्रोग्राम को शुरू किया है। एम्स के विधि अधिकारी प्रदीप चंद्र पांडेय  ने इस दुर्गम क्षेत्र में दी जाने वाली आउटरीच चिकित्सा सेवाओं की प्रशंसा की। इस अवसर पर जगतबंधु सेवा ट्रस्ट के सदस्य अंकित कुमार, राजवीर सिंह प्रजापति आदि मौजूद थे।