प्रयाग कुंभ से लौटी स्वास्थ्य टीम का एम्स में स्वागत।

 अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश की ओर से प्रयागराज कुंभ के तहत आयोजित नेत्र कुंभ में स्वास्थ्य सेवाएं देने के बाद संस्थान की टीम लौट चुकी है। संस्थान में पहुंचे चिकित्सकीय दल जोरदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने चिकित्सकों को प्रशस्तिपत्र व स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया।

गौरतलब है कि एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो.रवि कांत की पहल पर बीती जनवरी- 2019 में संस्थान के 32 सदस्यीय चिकित्सकों का दल नेत्र रोग विभागाध्यक्ष डा.संजीव मित्तल व मेडिसिन विभाग की प्रमुख डा.मीनाक्षी धर की अगुवाई में प्रयागराज कुंभ में गया था ,जहां उन्होंने नेत्र कुंभ के अंतर्गत एम्स ऋषिकेश की ओर से तीर्थयात्रियों को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की। इस अवसर पर निदेशक एम्स प्रो.रवि कांत ने कहा कि संस्थान का आउटरीच सेल गांव गांव में अपनी सेवाएं देने को प्रतिबद्ध है।लिहाजा इसी कड़ी में प्रयागराज कुंभ में देश दुनिया से आए श्रद्धालुओं को संस्थान द्वारा स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की गई। निदेशक पद्मश्री प्रो.रवि कांत ने बताया कि एम्स मुजफ्फरनगर, हरिद्वार, नगर के विभिन्न इलाकों के अलावा नारायण कोटी, पीपलकोटी, टिहरी, कोटेश्वर आदि क्षेत्रों में नियमित तौर पर स्वास्थ्य शिविर आयोजित कर रहा है। इस दौरान उन्होंने सभी चिकित्सकों को प्रशस्तिपत्र व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया, साथ ही आउटरीच में विशिष्ट कार्यों के लिए डा.संजीव मित्तल, डा.मीनाक्षी धर व नोडल ऑफिसर डा.संतोष कुमार को सम्मानित किया गया। एम्स के आउटरीच सेल के नोडल अधिकारी डा.संतोष कुमार ने बताया कि जनवरी से मार्च तक आयोजित स्वास्थ्य शिविर में करीब 27,432 रोगियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।।जिनमें 20,445 रोगियों का नेत्र व करीब 6987 का स्वास्थ्य परीक्षण व उपचार किया गया।

इस अवसर पर एम्स के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा.ब्रह्मप्रकाश,विद्या भारती के यूपी, उत्तराखंड के संरक्षक ब्रह्मदत्त (भाईजी), आरएसएस के प्रचारक विजयपाल, मेजर अभिनव,डा.विनोद आदि मौजूद थे।