कोरोना संक्रमण रोकने के लिए आगरा के माॅडल की सराहना

शनिवार को केंद्र सरकार की तरफ से होने वाले प्रेस कांफ्रेस में ‘आगरा मॉडल’ की तारीफ़ की गई, जिसके बाद बाक़ी राज्यों में भी इसे अमल में लाने का सुझाव दिया गया.

जिन क्लस्टर में कोरोना संक्रमण ज़्यादा पाए गए हैं उनके लिए केंद्र सरकार ने एक कंटेनमेंट प्लान बनाया है. आगरा ने उसी प्लान को अपनाया और उन्हें अच्छी सफलता मिली है.

केंद्र सरकार का दावा है कि आगरा देश का पहला क्लस्टर हैं, जहां इसे लागू किया गया है.

आगरा में कोरोना संक्रमण को जिस तरह से स्थानीय प्रशासन ने काम किया उस पर WHO ने भी उसकी सराहना की है.

WHO के मुताबिक किसी भी संक्रमण को डील करने का एक ही तरीका है, एक ही मॉडल है. जैसे ही आपको संक्रमण का सोर्स पता चलता है, बस आपको उसको ट्रैक करना है. वो कहां गए, किससे मिले, वो कौन-कौन लोग हैं जो संक्रमित हो सकते हैं. शुरुआत में ही अगर आप इस तरह से काम करते हैं तो आप आसानी से इस बीमारी को कंट्रोल कर सकते हैं. राजस्थान के भीलवाड़ा में भी यही हुआ था. दुनिया के दूसरे देशों में भी यही हो रहा है.

आगरा मॉडल में WHO ने ही स्थानीय प्रशासन को तकनीकी सपोर्ट दिया है. एरिया की मैपिंग से लेकर हॉटस्पॉट को चिन्हित करने तक में WHO से मदद ली गई है.