आचार संहिता का उल्लंघन किया तो खैर नहीं

चुनाव आयोग पीसी

लोकसभा चुनाव की तारीखों के एलान के साथ ही आचार संहिता लागू हो गई है. जिसके तहत सरकार किसी भी तरह की लोकलुभावनी घोषणाएं नहीं कर पाएगी. ऐसा करने पर इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा. वहीं लोकसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद राज्य निर्वाचन विभाग भी निष्पक्ष व पारदर्शिता के साथ चुनाव कराने को तैयार है.
मुख्या निवार्चन अधिकारी सौजन्या ने इस बाबत प्रेस वार्ता में
बताया कि आदर्श आचार सहिंता के पालन के लिए चुनावी बैनर और पोस्टरों को
हटाने का आदेश दिया गया है। सरकारी संपत्ति पर लगे बैनर, पोस्टरों को 24
घंटे के भीतर और पब्लिक प्रॉपर्टी से 48 घंटे के भीतर हटाने होंगे।
लोकसभा चुनाव को लेकर कंट्रोल रूम बनाया गया है, जो 24 घंटे अलर्ट
होगा. चुनाव से संबंधित कोई समस्या होने पर, टोल फ्री नंबर 18001804444
पर कॉल कर सकते हैं। और साथ ही अपना नाम वोटर लिस्ट में चेक करने के लिए 1950 डायल कर जानकारी ले सकेंगें। साथ ही उन्होंने बताया कि इस बार
प्रदेश में पहले चरण के तहत 11 अप्रैल को मतदान किया जाएगा. जो लोग अभी
तक मतदाता सूची के नाम में नहीं जुड़ा पाए हैं, वो 25 मार्च तक मतदाता सूची
में अपना नाम शामिल करा सकते हैं. इसके लिए मतदाता को एक एप्लीकेशन देना होगा. साथ ही वंचित होने का कारण भी बताना होगा।

वहीं एवीएम में कोई भी गड़बड़ी न हो और अपना रूट छोड़ कहीं भी
एवीएम का वाहन न जाए, इसके लिए ईवीएम मशीन ले जाने वाली गाडियों पर इस बार जीपीएस लगवाया जायेगा। ताकि चुनावों में निष्पक्षता लाई जा सके।