वन विभाग की क्युआरटी टीम की सक्रियता से बर्ड फूलू काबू में

बर्ड फूलू से जहां देश के 9 राज्यों में पोल्ट्री फाम तक फैल चुका है वही उत्तराखंड में पिछले कई ंिदनों से बर्ड फूलू के मामलों में तेजी से कमी आई है। उत्तराखंड मंे अभी तक बर्ड फुलू से लगभग 800 पक्षियांे की मौत हुई है जिनमें सबसे ज्यादा कौवों की संख्या है। देहादून जिले में सबसे अधिक पक्षियों की मौत के बावजूद यहां पर वन विभंाग द्वारा गठित क्युआरटी टीम को 24 घंटे कि लिए अर्लट मोड पर रखा गया है। देहरादून के डीएफओ राजीव धीमान का कहना है कि बर्ड फुलू की इस बीमारी में हमारी क्यु आर टी टीम बहुत अच्छा काम कर रही है, अपनी जान को जोखिम में डाल कर इस टीम के सदस्य दिन रात पक्षियों की मौत की सूचना पर घटना स्थल पर पंहुच कर उन्हें एकत्र कर रहे है। जिससे अन्य पक्षियों में संक्रमण न फैल पाये यही कारण है कि यहां पर बर्ड फूलू की स्थिति नियंत्रण में हैं और पक्षियांे की मौत में लगातार गिरवट दर्ज की जा रहीं है।आपकों बता दे कि देश के कई राज्यों में बर्ड फुलू की स्थिति बेकाबू होती जा रही है पोल्ट्री फमों को मुर्गियों को मारने के आदेश जारी किये गये है।