फायर उपकरणों की खरीदारी में लापरवाही से जंगलों को भारी नुकसान

 

प्रदेश में वनाग्नि से जंगल धूं धूं कर जल रहे है। वही वन अधिकारियो की लापरवाही के कारण अभी तक फायर उपकरणों की खरीद नहीं हो पायी है।वन विभाग में फायर फंड्स 75 लाख रूपये के फायर उपकरण खरीदने में अनदेखी सामने आयी है।हैरानी की बात यह है कि 10 मार्च को जारी आवंटन पत्र में 6 अप्रैल के पत्र का हवाला दिया गया है,और अभी तक वन प्रभागों में टूल किट का आवंटन नही हो पाया है।जबकि इस दौरान प्रदेश के दो हजार हेक्टेयर जंगल जलकर खाक हो चुके है।वही इस प्रकारण का वन मंत्री हरक सिंह रावत ने संज्ञान लिया और मामले की जांच के आदेश दिये है। आपको बता दें की इससे पहले भी वन अधिकारियों के द्वारा लापरवाही के कई मामले सामने आए हैं जिससे प्रदेश को भारी क्षति पहुंची है।