पीएम मोदी का 2022 तक का एक्शन प्लान, मुख्यमंत्रियों को दिए खास निर्देश

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने मिशन 2019 की बैठक के बाद बताया कि देश में पार्टी के सभी सीएम और डिप्टी सीएम को पीएम द्वारा मिशन 2019 के लक्ष्य को हासिल करने के लिए कैसे काम करना है इस पर गाइडेंस दे दी गई है और साथ ही 2022 तक पीएम के नये भारत के लक्ष्य को भी कैसे प्राप्त करना है इसके बारे में भी चर्चा की जा चुकी है।

PM Narendra Modi leaves BJP HQ after meeting with chief ministers and deputy chief ministers of BJP-governed states.  pic.twitter.com/dosmyZcUYw

All CMs & Dy CMs received PM’s guidance as to how states will work on mission mode to attain PM’s goal of a New India by 2022: UP CM pic.twitter.com/j5hv4vx3bc

View image on Twitter

सीएम योगी ने आगे कहा कि कांग्रेस का एंटी पुअर और एंटी ओबीसी होने का नकाब उतर चुका है। पीएम की पिछड़ों को संवैधानिक ढाचें के अंदर लाने की प्रकिया की पहल हो चुकी है।

सीएम योगी ने कांग्रेस की वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह पर बोलते हुए कहा कि उन्होंने कांग्रेस के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के होने के चलते कभी पिछड़ों को सवैंधानिक ढाचें के अन्तर्गत नहीं आने दिया।

मोदी सरकार के मिशन 2019 को लेकर छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह ने कहा कि, ” पीएम ने 2022 के लिए एक रोडमेप तैयार किया है जिसमें देश के सभी राज्य और उनके कार्यान्वन को बीजेपी और पीएम मोदी द्वारा हर तील साल में मोनिटर किया जाएगा।

Ways to achieve the aim of doubling farmers’ income by 2022 also discussed: UP CM after meeting of CMs & Dy CMs of BJP ruled states with PM

PM gave road map till 2022 to all states & its implementation will be monitored personally by BJP Pres & PM every 3 months: Chhattisgarh CM pic.twitter.com/46SiK8h46W

View image on Twitter

बता दें कि मिशन 2019 के लिए हुई इस बैठक में 2022 तक किसानों की आमदनी को दुगना करने पर भी चर्चा हुई।

मिशन 2019 की तैयारियों में जुटी भाजपा  ने सोमवार को पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ अगले लोकसभा चुनाव का तानाबाना बुना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की।इस दौरान खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह न सिर्फ पार्टी शासित राज्यों के कामकाज की समीक्षा की, बल्कि राज्यों की बेहतर योजनाओं के अलावा केंद्रीय योजनाओं की प्रगति की भी रिपोर्ट ली।

अब पीएम मोदी और शाह पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों और उपमुख्यमंत्रियों के साथ इसी रणनीति पर चर्चा की। इस दौरान चुनावी राज्य हिमाचल प्रदेश, गुजरात और कर्नाटक पर खासतौर पर चर्चा की।बैठक में सबसे पहले सभी राज्यों ने अपने कामकाज की रिपोर्ट पेश की। इसमें महत्वपूर्ण केंद्रीय योजनाओं खास तौर पर उज्जवला योजना की स्थिति की जानकारी अनिवार्य तौर पर दी।

चूंकि इसी साल गुजरात, हिमाचल प्रदेश, सहित कुछ अन्य राज्यों में जबकि छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, राजस्थान में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में इन राज्यों की चुनावी रणनीति पर भी विस्तार से चर्चा की। बैठक के अंत में प्रधानमंत्री मोदी ने संबोधित किया।

गौरतलब है कि पार्टी अध्यक्ष शाह ने बीते मंगलवार को 31 केंद्रीय मंत्रियों और संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ मिशन 2019 पर माथापच्ची कर अगले लोकसभा चुनाव में 360 सीटें जीतने का लक्ष्य निर्धारित किया था।